मेरी ज़िन्दगी का मक़सद मुस्लिमों को ख़त्म करना था लेकिन क़ुरआन पढ़ने के बाद इस्लाम का हो गया

494 views

आपको बहुत से डराने वाले मिलेंगे पर अगर आपका ईमान मज़बूत है तो आप इस्लाम को अच्छे से पहचान सकते हैं। मैं भी यही सोचता था की मेरे परिवार वाले क्या सोचेंगे पर एक बात जान लीजिये की इस्लाम हम इंसान के लिए ही बना है और इस्लाम एक सुलझा हुआ मज़हब है। अगर आप के माता पिता इस्लाम को समझ लेंगे तो वो भी आपका साथ देंगे।

The purpose of my life was to eliminate the Muslims, but after reading the Quran, it became Islam: #IbrahimKillington

You will find many scared people but if your faith is strong then you can recognize Islam very well. I also wondered what my family would think, but know one thing that Islam has created itself for human beings and Islam is an isolated religion. If your parents understand Islam then they will also accompany you..

You may also like

News politics Video

Films animation Video